स्वनिधि योजना: SVANidhi Yojana ऑनलाइन आवेदन, स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि

SVANidhi Yojana Apply | स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि ऑनलाइन आवेदन | स्वनिधि योजना आवेदन फॉर्म | SVANidhi Yojana In Hindi

हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 1 जून 2020 को  केंद्रीय केबिनेट की बैठक स्वनिधि योजना को शुरू करने का फैसला लिया है | इस योजना के अंतर्गत  देश के रेहड़ी और पटरी वालों (छोटे सड़क विक्रेताओं) को अपना खुद का काम नए सिरे से शुरू करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा 10000 रूपये तक का लोन मुहैया कराया जायेगा | इस स्वनिधि योजना को प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर्स आत्म निर्भर निधि के नाम से भी जाना जाता है | इस योजना का लाभ देश के सभी  छोटे सड़क विक्रेताओं को उपलब्ध कराया जायेगा | प्यारे दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस स्वनिधि योजना से जुड़ी सभी जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया , पात्रता ,दस्तावेज़ आदि प्रदान करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े |

SVANidhi Yojana

देश में ग्रामीण और शहरी सड़को के किनारे  स्‍ट्रीट वेंडर जो फल, सब्जियाँ बेचते हैं या रेहड़ी पर छोटी-मोटी दुकान लगाते हैं वे इस SVANidhi Yojana के तहत सरकार द्वारा  10000 रूपये का लोन प्राप्त करके लाभ उठा सकते है सरकार द्वारा लिया गया यह ऋण रेहड़ी पटरी वाले एक साल के भीतर किस्त में लौटना होगा | इस लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को सात फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके अकाउंट में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा। देश के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है तो उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना होगा | स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में वेंडर, हॉकर, ठेले वाले, रेहड़ी वाले, ठेली फलवाले आदि सहित 50 लाख से अधिक लोगों को योजना से लाभ प्रदान किया जायेगा |

Pradhanmantri SVANidhi Yojana Highlights

योजना का नाम स्वनिधि योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा
लॉन्च की तारीक 1 जून 2020
लाभार्थी रेहड़ी पटरी वाले
 उद्देश्य लोन प्रदान करना

स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि का उद्देश्य

जैसे की आप सभी लोग जानते है कि पूरे देश में कोरोना वायरस महामारी का सक्रमण चल रहा है इस संक्रमण से लोगो को बचाने के लिए  प्रधानमंत्री द्वारा पूरे देश में 30 जून तक लॉक डाउन कर दिया है  इसी वजह से देश के  रेहड़ी-पटरी वालों ,और ठेले पर सामान बेचने वाले  अपना जीवन यापन करने के लिए काम नहीं कर पा रहे है | जिसकी वजह से उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पद रहा है इस समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने इस योजना को शुरू करने की घोषणा की है | स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि के अंतर्गत रेहड़ी पटरी वालो को अपना काम दोबारा से शुरू करने के लिए सरकार द्वारा लोन मुहैया कराना | इस योजना के ज़रिये रेहड़ी पटरी वालो को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना | इस योजना के ज़रिये गरीब लोगो की स्थिति में सुधार करना |

स्वनिधि योजना के लाभ

  • इस योजना का लाभ सड़क के किनारे रेहड़ी पटरी वालो को प्रदान किया जायेगा |
  • स्वनिधि योजना के अंतर्गत शहरी / ग्रामीण क्षेत्रों के आस-पास सड़क पर माल बेचने वाले विक्रेताओं को इसमें लाभार्थी बनाया गया है।
  • देश के स्ट्रीट वेंडर सीधा 10,000 रुपये तक की कार्यशील पूंजी ऋण का लाभ उठा सकते हैं। जिसे वे एक वर्ष में मासिक किस्तों में चुका सकते हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत 50 लाख से अधिक लोगो को लैह पहुंचाया जायेगा |
  • इस लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को सात फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके अकाउंट में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा।
  • SVANidhi Yojana के तहत जुर्माने का कोई प्रावधान नहीं है।
  • यह प्रौद्योगिकी का उपयोग करते हुए लोगों की क्षमता को बढ़ाने और कोरोना संकट के समय कारोबार को नए सिरे से खड़ा कर आत्मनिर्भर भारत अभियान को सफल बनाने का काम करेगी।
  • लोगों को पीएम स्ट्रीट आत्मनिर्भर निधि योजना की आधिकारिक वेबसाइट (लॉन्च की जाने वाली) पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा या प्रारंभिक कार्यशील पूंजी ऋण प्राप्त करने के लिए बैंकों में ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  • इससे ये लोग कोरोना संकट के समय अपने कारोबार को नए सिरे से खड़ा कर आत्मनिर्भर भारत अभियान को गति देंगे.’

स्वनिधि योजना के पात्र लाभार्थी कौन कौन है

  • नाई की दुकानें
  • जूता गांठने वाले (मोची)
  • पान की दूकानें (पनवाड़ी)
  • कपड़े धोने की दूकानें (धोबी)
  • सब्जियां बेचने वाले
  • फल बेचने वाले
  • रेडी-टू-ईट स्ट्रीट फूड
  • चाय का ठेला या खोखा लगाने वाले
  • ब्रेड, पकौड़े व अंडे बेचने वाले
  • फेरीवाले जो वस्त्र बेचते हैं
  • किताबें/स्टेशनरी लगाने वाले
  • कारीगर उत्पाद

स्वनिधि योजना में आवेदन कैसे करे ?

देश के जो इच्छुक  रेहड़ी और पटरी वाले लाभार्थी स्वनिधि योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा लाभ प्राप्त करना चाहते है तो उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना होगा इन सभी कार्यक्रमों के साथ मिल कर सभी हितधारकों और आईईसी गतिविधियों की क्षमता निर्माण के लिए वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम का पूरे देश में जून में शुभारंभ होगा और जुलाई के महीने में लोन मिलना शुरू हो जाएगा। प्रारंभिक कार्यशील पूंजी ऋण प्राप्त करने के लिए बैंकों में ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। तो वह नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे।

 

सर्वप्रथम आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।  ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर होम पेज खुल जायेगा।

  • इस होम पेज पर आपको Planning to Apply for Loan का ऑप्शन दिखाई देगा ।  जिसके बाद Planning to Apply for Loan के सेक्शन सभी 3 स्टेप्स को ध्यान से पढ़ कर आगे बढ़ना है और View More के बटन पर क्लिक करना होगा ।
  • इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा। इस पेज पर आपको View / Download Form के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। जिसके बाद आपके सामने स्वनिधि योजना के फॉर्म की पीडीएफ  खुल जायेगा।

 

  • आप इस योजना की पीडीएफ को डाउनलोड कर सकते है। एप्लीकेशन फॉर्म  डाउनलोड करने के बाद आपको इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी भरनी होगी। सभी जानकारी भरने के बाद आपको एप्लीकेशन के साथ अपने सभी जरुरी दस्तावेज़ों को अटैच करना होगा।
  • इसके बाद आपके एप्लीकेशन फॉर्म को नीचे बताये  गए संस्थानों में जाकर जमा करना होगा।  नीचे संस्थानों की सूची दिखाई गयी है |

लोन देने वाले संस्थानों की सूची कैसे देखे ?

  • सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।  ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।  इस होम पेज पर आपको नीचे View More के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा। इस पेज पर आपको Lenders List का विकल्प दिखाई देगा।

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगले पेज पर आपके सामने बैंक की सूचि खुल जाएगी।
  • इस सूची को देखने के बाद आप जिसमे चाहे वहाँ जाकर अपना एप्लीकेशन फॉर्म जमा कर सकते है।

अपनी सर्वेक्षण स्थिति / सड़क विक्रेता सर्वेक्षण खोज की जाँच करें?

  • सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। ऑफिसियल वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा। इस होम पेज पर आपको नीचे view more के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर अगला पेज खुल जायेगा।  इस पेज पर आपको Vendor Survey List का विकल्प दिखाई देगा |

  • आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक करने के बाद एक फॉर्म खुलकर आ जायेगा।  आपको इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे राज्य का नाम, शहरी स्थानीय निकायों (ULB), Street Vendor यानि अपना नाम, पिता / पत्नी / पति का नाम, मोबाइल नंबर, certificate of vending no. आदि भरनी होगी।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको Search  के बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद अपनी सर्वेक्षण स्थिति / सड़क विक्रेता सर्वेक्षण खोज की जाँच कर सकते है।

केबिनेट की बैठक में की गयी अन्य घोषणाएं

  • MSME सेक्टर के लिए इक्विटी स्कीम को कैबिनेट की मंजूरी – संकटग्रस्त छोटे और मध्यम उद्योगों को लाभ मिलेगा, साथ ही रोजगार के अपार अवसर सृजित होंगे | केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि MSMEs के लिए 50 हजार करोड़ रुपये के इक्विटी निवेश (Equity investment) की घोषणा की गई है।
  • 14 फसलों की एमएसपी तय –  के मंत्र को आगे बढ़ाते हुए कैबिनेट ने अन्नदाताओं के हक में बड़े फैसले किए हैं. इनमें खरीफ की 14 फसलों के लिए लागत का कम से कम डेढ़ गुना एमएसपी देना सुनिश्चित किया गया है. साथ ही 3 लाख रुपये तक के शॉर्ट टर्म लोन चुकाने की अवधि भी बढ़ा दी गई है|
  • कृषि ऋण पर ब्याज छूट का लाभ अब 31 अगस्त तक मिलेगा
  • एमएसएमई में शेयर लेकर अपनी भागीदारी देगी सरकार
  • सैलून, पान की दुकान और मोची को भी मिलेगा लाभ

Leave a Reply