Bihar Badh Rahat Yojana 2020 , प्रभावित परिवारों को मिलेगा 6-6 हजार और अलग से इतने रुपए,पात्रता ,आवश्यक दस्तावेज ।

Table of Contents

BIHAR BADH RAHAT YOJANA , बिहार बाढ़ सहायता योजना , प्रभावित परिवारों को मिलेगा 6-6 हजार और अलग से इतने रुपए,पात्रता ,आवश्यक दस्तावेज ।ADH RAHAT YOJANA , बिहार बाढ़ सहायता योजना , प्रभावित परिवारों को मिलेगा 6-6 हजार और अलग से इतने रुपए,पात्रता ,आवश्यक दस्तावेज ।

| Bihar Badh Rahat Yojana , बिहार बाढ़ सहायता योजना , Bihar Badh sahayata Yojana , बाढ़ प्रभावित परिवारों को मिलेगा ₹6000 , बिहार बाढ़ सहायता के लिए कैसे आवेदन करें , बिहार बाढ़ प्रभावित क्षेत्र सहायता हेतु आवेदन प्रक्रिया ||

BIHAR FLOOD RELIEF SCHEME , BIHAR BADH RAHAT YOJANA

अब तो ऐसा लगता है बिहार में हर वर्ष बढ़ा आना एक परंपरा या त्यौहार बन चुका है और इस त्यौहार को मनाना सभी के लिए जरूरी है ना बिहार सरकार इस समस्या को देख रही हैं और ना ही भारत सरकार इसके ऊपर कोई करा निर्णय ले रही है । यह सुनना अब आम बात हो चुका है कि बिहार के कुछ इलाके पूरी तरह से डूब चुके हैं ऐसा इस बार भी हुआ है बिहार सरकार के द्वारा 10 जिलों में बाढ़ की घोषणा कर दी गई और आप लोग देख भी रहे हैं कि बिहार के बहुत सारे ऐसे जिले हैं जो पूरी तरह से बाढ़ के पानी में डूब चुके हैं पता ही नहीं चल रहा कि वहां पर पहले से कोई गांव या बस्ती भी थी । ना जाने ऐसा अब और कब तक चलेगा कब बिहार सरकार इस समस्या को दूर करने के लिए डैम का निर्माण करेंगे ।

खैर यह तो बिहार की समस्या है ही और बिहार की जनता इसे हर साल से सहती ही रहती है लेकिन छोड़िए बिहार सरकार के द्वारा बिहार राहत के नाम पर आप लोगों को कुछ राहत तो दिया जा रहा है चलिए Bihar Badh Rahat Yojana या Bihar Badh Sahayata Yojana के बारे में जान लेते हैं ।

आपदा प्रबंधन विभाग का आदेश जारी ।

बिहार सरकार के द्वारा घोषणा करते हुए बताया गया है कि बिहार बाढ़ ग्रस्त इलाके के हर एक परिवार को सरकार की ओर से ₹6000 Bihar Badh Rahat Yojana के तहत दिया जाएगा साथ ही बाढ़ के कारण जिनका पक्का या कच्चा मकान ,जान माल की हानि हुई है या फिर फसल बर्बाद हुए हैं इसके एवज में भी मुआवजा राज्य सरकार के द्वारा दिया जाएगा ।

साथ ही पशुओं के नुकसान पर भी सरकार के द्वारा सहायता दिया जाएगा जैसे कि गाय ,भैंस, घोड़े, मुर्गी, बकरी इत्यादि ।

वैसे तो आपदा प्रबंधन विभाग बिहार सरकार के द्वारा तत्काल सूची तैयार करने का निर्देश जारी कर दिया गया है ।

बिहार के 10 जिलों को मिलेगा BIHAR BADH RAHAT YOJANA का लाभ ।

वैसे तो बिहार में बाढ़ का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है लेकिन अभी बिहार के 10 निम्नलिखित जिले हैं जो बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित है और जहां सरकार ने Bihar Badh Sahayata Yojana का लाभ देने का निर्णय लिया है ।

बिहार के बाढ़ प्रभावित 10 जिले हैं :- सीतामढ़ी , शिवहर ,सुपौल ,किशनगंज ,दरभंगा ,मुजफ्फरपुर ,गोपालगंज ,खगरिया, पूर्वी व पश्चिमी चंपारण ,यह जिले ऐसे हैं जिनमें बाढ़ का प्रकोप सबसे ज्यादा पाया गया है और यहां लगभग 6.36 लाख से अधिक लोगों को बाढ़ से हानि हुई है। यह ऐसे लोग हैं जो बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में रह रहे हैं जिनको जान- माल और मकान की हानि हुई है ।

अगर आप भी इन जिलों से बिलॉन्ग करते हैं और आप बाढ़ प्रभावित हैं तो आपदा प्रबंधन विभाग के द्वारा बाढ़ प्रभावित लोगों की सूची तैयार करने का निर्देश जारी किया गया है , यानी जिन लोगों को बाढ़ से क्षति हुई है उनकी सूची राज्य सरकार के द्वारा तैयार किया जाएगा और जल्द ही इन्हें Bihar Badh Sahayata Yojana का लाभ दिया जाएगा ।

सूची कैसे तैयार किया जाएगा और इसमें कौन-कौन सी जानकारी मौजूद होगी ।

विभाग से मिली जानकारी से यह पता चला है कि बाढ़ ग्रसित इलाके के सभी परिवारों को सहायता अनुदान यानी जिआर मदद में ₹6000 प्रति परिवार दिया जाएगा साथ ही जिन परिवारों में गाय ,भैंस ,बकरी ,मकान इत्यादि की भी हानि हुई है उन्हें इसकी एवज में अलग से राशि उपलब्ध कराई जाएगी । राज्य सरकार के द्वारा आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारी इन प्रभावित क्षेत्रों में प्रभावित लोगों की सूची तैयार करेंगे , जिस सूची में प्रभावित व्यक्ति का नाम, पता और उनका बैंक अकाउंट संख्या की भी जानकारी मौजूद होगी ।

राज्य सरकार के द्वारा लाभ इन लोगों को सीधे बैंक खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से अंतरित की जाएगी ताकि Bihar Badh Sahayata Yojana का लाभ डायरेक्ट प्रभावित व्यक्ति या प्रभावित परिवार को मिल सके और बीच में बिचौलियों की बात खत्म हो सके ।

BIHAR BADH RAHAT YOJANA HIGHLIGHTS

योजना का नामबिहार बाढ़ राहत योजना, बिहार बाढ़ सहायता योजना
लाभार्थीबिहार बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के रहने वाले बाढ़ से प्रभावित परिवार
लाभबाढ़ प्रभावित परिवारों को ₹6000 प्रति परिवार साथ ही जान-माल, पशु, फसल की हानि होने पर अलग से लाभ ।
उद्देश्यबाढ़ प्रभावित व्यक्ति परिवार को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराना
आवेदनऑफलाइन के माध्यम से अधिकारी द्वारा प्रभावित व्यक्तियों , जान , माल की सूची तैयार की जाएगी ।
विभागआपदा प्रबंधन विभाग बिहार सरकार
बाढ़ प्रभावित जिलाफिलहाल 10 , सीतामढ़ी , शिवहर , सुपौल , किशनगंज , दरभंगा , मुजफ्फरपुर , गोपालगंज , खगरिया , पूर्वी व पश्चिमी चंपारण ।
आपदा प्रबंधन विभाग बिहार ऑफिसियल वेबसाइट  Click Here

BIHAR BADH SAHAYATA YOJANA के उद्देश्य

जैसा आप सभी जानते हैं हर बार बिहार में बाढ़ एक भयंकर रूप और विशालकाय रूप धारण कर लेता है लाखों लोगों को जान-माल की हानि होती है सरकार इस समस्या को तो दूर करने में असमर्थ है लेकिन बाढ़ प्रभावित क्षेत्र और बाढ़ प्रभावित लोगों को सरकार कुछ सहायता राशि दे रहे हैं इस सहायता राशि देने के पीछे उद्देश्य इन लोगों की समस्या को थोड़ा बहुत कम करना है और उन्हें आर्थिक लाभ पहुंचाना है ।

आपदा प्रबंधन विभाग बिहार सरकार के द्वारा क्षतिग्रस्त मकानों और फसल नुकसान का भी ब्यौरा अलग से तैयार करने का निर्देश दिया गया है ।

बाढ़ ग्रस्त इलाके में हुए नुकसान में भी लोगों को सरकारी सहायता तो मिलेगी ही साथ ही फसल क्षति से लेकर मकान व पशु नुकसान में भी सहायता का प्रावधान राज्य सरकार के द्वारा किया गया है । Bihar Badh Sahayata Yojana के तहत जिन जिलों का चयन किया गया है उनमें क्षतिग्रस्त मकानों के साथ फसल नुकसान का भी ब्यौरा अधिकारियों के द्वारा तैयार किया जाएगा ।

वही बाढ़ से जिनका गाय ,भैंस , बकरी या मुर्गी का नुकसान हुआ है तो सरकार उन्हें अलग से सहायता देगी इसके अलावा कपड़ा और बर्तन नुकसान होने पर भी सभी परिवारों को सहायता देने का प्रावधान इस बार Bihar Badh Sahayata Yojana के तहत किया गया है ।

कैसे स्थिति में कितना मिलेगा मुआवजा , बिहार बाढ़ सहायता योजना 2020

  •  बिहार बाढ़ प्रभावित परिवारों को ₹6000 का लाभ ।
  •  कपड़ा का नुकसान होने पर 1800 रुपए
  •  ₹2000 बर्तन के लिए
  •  6800 रुपए प्रति हेक्टेयर फसल के लिए
  •  ₹30000 प्रति गाय , भैंस की छती होने पर
  •  ₹25000 प्रति घोड़ा की छती पर
  •  ₹3000 प्रति भेड़ ,बकरी ,सूअर की छती पर
  •  ₹95100 पक्का मकान , कच्चा मकान नुकसान पर
  •  ₹50 प्रति मुर्गी नुकसान पर अधिकतम ₹5000 देय होगा ।
  •  5200 रुपए पक्का मकान के आंशिक क्षतिग्रस्त होने पर
  •  3200 रुपए कच्चा मकान के आंशिक क्षतिग्रस्त होने पर
  •  2100 रुपए जानवर के शेड नुकसान होने पर
  •  ₹4100 झोपड़ी का पूर्ण नुकसान होने पर

बिहार बाढ़ सहायता राशि पाने के लिए कैसे आवेदन करें ?

बिहार बाढ़ सहायता के तहत Bihar Badh Rahat Yojana का लाभ लेने के लिए आपको आवेदन नहीं करने होंगे बल्कि अगर आप बिहार बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के रहने वाले हैं और आप बिहार बाढ़ प्रभावित व्यक्ति हैं तो आपका डाटा राज्य सरकार के द्वारा अधिकारी को भेज कर तैयार करवाया जाएगा । बाढ़ प्रभावित होने की स्थिति में अलग लिस्ट बनाई जाएगी साथ ही अगर आप की फसल की क्षति हुई है तो इसके लिए सूची कृषि विभाग के माध्यम से तैयार किए जाएंगे । यानी आपको अपने स्तर पर केवल अपना नाम सूची में ऐड करवाना है बाकी लाभ आपको सीधे राज्य सरकार के द्वारा मिल जाएगा ।

संपूर्ण बिहार में बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र का विवरण

अभी फिलहाल बिहार में 10 जिलों को बाढ़ ग्रसित घोषित किया गया है जिनमें 55 प्रखंड शामिल है और इन 55 प्रखंडों में 282 पंचायत जिसकी कुल आबादी 6 लाख 36 हजार के साथ लगभग 1.50 लाख से अधिक परिवार बाढ़ ग्रसित है ।

  • 10 जिले
  • 55 प्रखंड
  • 282 पंचायत
  • 636000 कुल आबादी प्रभावित
  • 1.50 लाख परिवार बाढ़ प्रभावित

बाढ़ प्रभावित लोगों को जल्द ही मिले राहत

कुछ जिला पार्षदों और पंचायत सचिवों के द्वारा जायजा लिया गया तो यह पता चला कि लोगों में बाढ़ से बहुत ज्यादा त्राहिमाम मचा हुआ है खाने पीने की व्यवस्था भी उचित नहीं है साथ ही पूरा इलाका पानी में डूब चुका है । आने जाने के लिए पर्याप्त संख्या में नाव की भी जरूरत है , इस समस्या को देखते हुए राज्य सरकार के द्वारा जल्द ही सहायता राशि लोगों के बैंक खाते में अंतरित की जाए और साथ ही बाढ़ से राहत के कुछ जरूरी उपाय भी किए जाएं ।

Bihar Badh Rahat Yojana , बिहार बाढ़ सहायता योजना , प्रभावित परिवारों को मिलेगा 6-6 हजार और अलग से इतने रुपए,पात्रता ,आवश्यक दस्तावेज ।

Please share this

  • 852
  • 575
  • 555
  • 2KShares

BIHAR BADH RAHAT YOJANA , बिहार बाढ़ सहायता योजना , प्रभावित परिवारों को मिलेगा 6-6 हजार और अलग से इतने रुपए,पात्रता ,आवश्यक दस्तावेज ।

इस पोस्ट में क्या है ?

|| Bihar Badh Rahat Yojana , बिहार बाढ़ सहायता योजना , Bihar Badh sahayata Yojana , बाढ़ प्रभावित परिवारों को मिलेगा ₹6000 , बिहार बाढ़ सहायता के लिए कैसे आवेदन करें , बिहार बाढ़ प्रभावित क्षेत्र सहायता हेतु आवेदन प्रक्रिया ||

BIHAR FLOOD RELIEF SCHEME , BIHAR BADH RAHAT YOJANA

अब तो ऐसा लगता है बिहार में हर वर्ष बढ़ा आना एक परंपरा या त्यौहार बन चुका है और इस त्यौहार को मनाना सभी के लिए जरूरी है ना बिहार सरकार इस समस्या को देख रही हैं और ना ही भारत सरकार इसके ऊपर कोई करा निर्णय ले रही है । यह सुनना अब आम बात हो चुका है कि बिहार के कुछ इलाके पूरी तरह से डूब चुके हैं ऐसा इस बार भी हुआ है बिहार सरकार के द्वारा 10 जिलों में बाढ़ की घोषणा कर दी गई और आप लोग देख भी रहे हैं कि बिहार के बहुत सारे ऐसे जिले हैं जो पूरी तरह से बाढ़ के पानी में डूब चुके हैं पता ही नहीं चल रहा कि वहां पर पहले से कोई गांव या बस्ती भी थी । ना जाने ऐसा अब और कब तक चलेगा कब बिहार सरकार इस समस्या को दूर करने के लिए डैम का निर्माण करेंगे ।

खैर यह तो बिहार की समस्या है ही और बिहार की जनता इसे हर साल से सहती ही रहती है लेकिन छोड़िए बिहार सरकार के द्वारा बिहार राहत के नाम पर आप लोगों को कुछ राहत तो दिया जा रहा है चलिए Bihar Badh Rahat Yojana या Bihar Badh Sahayata Yojana के बारे में जान लेते हैं ।

Bihar Badh Rahat Yojana

आपदा प्रबंधन विभाग का आदेश जारी ।

बिहार सरकार के द्वारा घोषणा करते हुए बताया गया है कि बिहार बाढ़ ग्रस्त इलाके के हर एक परिवार को सरकार की ओर से ₹6000 Bihar Badh Rahat Yojana के तहत दिया जाएगा साथ ही बाढ़ के कारण जिनका पक्का या कच्चा मकान ,जान माल की हानि हुई है या फिर फसल बर्बाद हुए हैं इसके एवज में भी मुआवजा राज्य सरकार के द्वारा दिया जाएगा ।

साथ ही पशुओं के नुकसान पर भी सरकार के द्वारा सहायता दिया जाएगा जैसे कि गाय ,भैंस, घोड़े, मुर्गी, बकरी इत्यादि ।

वैसे तो आपदा प्रबंधन विभाग बिहार सरकार के द्वारा तत्काल सूची तैयार करने का निर्देश जारी कर दिया गया है ।

बिहार के 10 जिलों को मिलेगा BIHAR BADH RAHAT YOJANA का लाभ ।

वैसे तो बिहार में बाढ़ का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है लेकिन अभी बिहार के 10 निम्नलिखित जिले हैं जो बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित है और जहां सरकार ने Bihar Badh Sahayata Yojana का लाभ देने का निर्णय लिया है ।

बिहार के बाढ़ प्रभावित 10 जिले हैं :- सीतामढ़ी , शिवहर ,सुपौल ,किशनगंज ,दरभंगा ,मुजफ्फरपुर ,गोपालगंज ,खगरिया, पूर्वी व पश्चिमी चंपारण ,यह जिले ऐसे हैं जिनमें बाढ़ का प्रकोप सबसे ज्यादा पाया गया है और यहां लगभग 6.36 लाख से अधिक लोगों को बाढ़ से हानि हुई है। यह ऐसे लोग हैं जो बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में रह रहे हैं जिनको जान- माल और मकान की हानि हुई है ।

अगर आप भी इन जिलों से बिलॉन्ग करते हैं और आप बाढ़ प्रभावित हैं तो आपदा प्रबंधन विभाग के द्वारा बाढ़ प्रभावित लोगों की सूची तैयार करने का निर्देश जारी किया गया है , यानी जिन लोगों को बाढ़ से क्षति हुई है उनकी सूची राज्य सरकार के द्वारा तैयार किया जाएगा और जल्द ही इन्हें Bihar Badh Sahayata Yojana का लाभ दिया जाएगा ।

सूची कैसे तैयार किया जाएगा और इसमें कौन-कौन सी जानकारी मौजूद होगी ।

विभाग से मिली जानकारी से यह पता चला है कि बाढ़ ग्रसित इलाके के सभी परिवारों को सहायता अनुदान यानी जिआर मदद में ₹6000 प्रति परिवार दिया जाएगा साथ ही जिन परिवारों में गाय ,भैंस ,बकरी ,मकान इत्यादि की भी हानि हुई है उन्हें इसकी एवज में अलग से राशि उपलब्ध कराई जाएगी । राज्य सरकार के द्वारा आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारी इन प्रभावित क्षेत्रों में प्रभावित लोगों की सूची तैयार करेंगे , जिस सूची में प्रभावित व्यक्ति का नाम, पता और उनका बैंक अकाउंट संख्या की भी जानकारी मौजूद होगी ।

राज्य सरकार के द्वारा लाभ इन लोगों को सीधे बैंक खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से अंतरित की जाएगी ताकि Bihar Badh Sahayata Yojana का लाभ डायरेक्ट प्रभावित व्यक्ति या प्रभावित परिवार को मिल सके और बीच में बिचौलियों की बात खत्म हो सके ।

BIHAR BADH RAHAT YOJANA HIGHLIGHTS

योजना का नामबिहार बाढ़ राहत योजना, बिहार बाढ़ सहायता योजना
लाभार्थीबिहार बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के रहने वाले बाढ़ से प्रभावित परिवार
लाभबाढ़ प्रभावित परिवारों को ₹6000 प्रति परिवार साथ ही जान-माल, पशु, फसल की हानि होने पर अलग से लाभ ।
उद्देश्यबाढ़ प्रभावित व्यक्ति परिवार को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराना
आवेदनऑफलाइन के माध्यम से अधिकारी द्वारा प्रभावित व्यक्तियों , जान , माल की सूची तैयार की जाएगी ।
विभागआपदा प्रबंधन विभाग बिहार सरकार
बाढ़ प्रभावित जिलाफिलहाल 10 , सीतामढ़ी , शिवहर , सुपौल , किशनगंज , दरभंगा , मुजफ्फरपुर , गोपालगंज , खगरिया , पूर्वी व पश्चिमी चंपारण ।
आपदा प्रबंधन विभाग बिहार ऑफिसियल वेबसाइट  Click Here

BIHAR BADH SAHAYATA YOJANA के उद्देश्य

जैसा आप सभी जानते हैं हर बार बिहार में बाढ़ एक भयंकर रूप और विशालकाय रूप धारण कर लेता है लाखों लोगों को जान-माल की हानि होती है सरकार इस समस्या को तो दूर करने में असमर्थ है लेकिन बाढ़ प्रभावित क्षेत्र और बाढ़ प्रभावित लोगों को सरकार कुछ सहायता राशि दे रहे हैं इस सहायता राशि देने के पीछे उद्देश्य इन लोगों की समस्या को थोड़ा बहुत कम करना है और उन्हें आर्थिक लाभ पहुंचाना है ।

आपदा प्रबंधन विभाग बिहार सरकार के द्वारा क्षतिग्रस्त मकानों और फसल नुकसान का भी ब्यौरा अलग से तैयार करने का निर्देश दिया गया है ।

बाढ़ ग्रस्त इलाके में हुए नुकसान में भी लोगों को सरकारी सहायता तो मिलेगी ही साथ ही फसल क्षति से लेकर मकान व पशु नुकसान में भी सहायता का प्रावधान राज्य सरकार के द्वारा किया गया है । Bihar Badh Sahayata Yojana के तहत जिन जिलों का चयन किया गया है उनमें क्षतिग्रस्त मकानों के साथ फसल नुकसान का भी ब्यौरा अधिकारियों के द्वारा तैयार किया जाएगा ।

फसल नुकसान का विवरण कृषि विभाग बिहार सरकार के माध्यम से तैयार किया जाएगा वहीं विभाग ने यथासंभव प्रभावितों की सूची बनाने की आदेश को जारी कर दिया है साथ ही जल्द से जल्द सहायता राशि भी प्रभावित व्यक्तियों के बैंक खाते में भेजी जा सके इसका भी निर्देश जारी किया है ।

वही बाढ़ से जिनका गाय ,भैंस , बकरी या मुर्गी का नुकसान हुआ है तो सरकार उन्हें अलग से सहायता देगी इसके अलावा कपड़ा और बर्तन नुकसान होने पर भी सभी परिवारों को सहायता देने का प्रावधान इस बार Bihar Badh Sahayata Yojana के तहत किया गया है ।

बिहार बाढ़ सहायता योजना

कैसे स्थिति में कितना मिलेगा मुआवजा , बिहार बाढ़ सहायता योजना 2020

  •  बिहार बाढ़ प्रभावित परिवारों को ₹6000 का लाभ ।
  •  कपड़ा का नुकसान होने पर 1800 रुपए
  •  ₹2000 बर्तन के लिए
  •  6800 रुपए प्रति हेक्टेयर फसल के लिए
  •  ₹30000 प्रति गाय , भैंस की छती होने पर
  •  ₹25000 प्रति घोड़ा की छती पर
  •  ₹3000 प्रति भेड़ ,बकरी ,सूअर की छती पर
  •  ₹95100 पक्का मकान , कच्चा मकान नुकसान पर
  •  ₹50 प्रति मुर्गी नुकसान पर अधिकतम ₹5000 देय होगा ।
  •  5200 रुपए पक्का मकान के आंशिक क्षतिग्रस्त होने पर
  •  3200 रुपए कच्चा मकान के आंशिक क्षतिग्रस्त होने पर
  •  2100 रुपए जानवर के शेड नुकसान होने पर
  •  ₹4100 झोपड़ी का पूर्ण नुकसान होने पर

बिहार बाढ़ सहायता राशि पाने के लिए कैसे आवेदन करें ?

बिहार बाढ़ सहायता के तहत Bihar Badh Rahat Yojana का लाभ लेने के लिए आपको आवेदन नहीं करने होंगे बल्कि अगर आप बिहार बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के रहने वाले हैं और आप बिहार बाढ़ प्रभावित व्यक्ति हैं तो आपका डाटा राज्य सरकार के द्वारा अधिकारी को भेज कर तैयार करवाया जाएगा । बाढ़ प्रभावित होने की स्थिति में अलग लिस्ट बनाई जाएगी साथ ही अगर आप की फसल की क्षति हुई है तो इसके लिए सूची कृषि विभाग के माध्यम से तैयार किए जाएंगे । यानी आपको अपने स्तर पर केवल अपना नाम सूची में ऐड करवाना है बाकी लाभ आपको सीधे राज्य सरकार के द्वारा मिल जाएगा ।

संपूर्ण बिहार में बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र का विवरण

अभी फिलहाल बिहार में 10 जिलों को बाढ़ ग्रसित घोषित किया गया है जिनमें 55 प्रखंड शामिल है और इन 55 प्रखंडों में 282 पंचायत जिसकी कुल आबादी 6 लाख 36 हजार के साथ लगभग 1.50 लाख से अधिक परिवार बाढ़ ग्रसित है ।

  • 10 जिले
  • 55 प्रखंड
  • 282 पंचायत
  • 636000 कुल आबादी प्रभावित
  • 1.50 लाख परिवार बाढ़ प्रभावित

बाढ़ प्रभावित लोगों को जल्द ही मिले राहत

कुछ जिला पार्षदों और पंचायत सचिवों के द्वारा जायजा लिया गया तो यह पता चला कि लोगों में बाढ़ से बहुत ज्यादा त्राहिमाम मचा हुआ है खाने पीने की व्यवस्था भी उचित नहीं है साथ ही पूरा इलाका पानी में डूब चुका है । आने जाने के लिए पर्याप्त संख्या में नाव की भी जरूरत है , इस समस्या को देखते हुए राज्य सरकार के द्वारा जल्द ही सहायता राशि लोगों के बैंक खाते में अंतरित की जाए और साथ ही बाढ़ से राहत के कुछ जरूरी उपाय भी किए जाएं ।

बिहार बाढ़ सहायता राशि प्राप्त करने के लिए पात्रता और आवश्यक दस्तावेज ?

  •  सबसे पहले आपका जिला बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में घोषित हुआ होना चाहिए
  •  आपका घर बाढ़ प्रभावित पंचायत या गांव में आना चाहिए
  •  आप पूरी तरह से बाढ़ प्रभावित परिवार होने चाहिए
  •  आपके पास आधार कार्ड , बैंक अकाउंट पासबुक मौजूद होना चाहिए
  •  नाम , पता का भी विवरण आपको सूची में देना होगा

FAQ BIHAR BADH RAHAT YOJANA

Q 1. इस बार बिहार बाढ़ राहत योजना का लाभ किन किन जिलों में मिलेगा ?

फिलहाल बिहार बाढ़ राहत योजना के तहत बिहार में कुल 10 जिलों का चयन किया गया है जो निम्नलिखित हैं :-
सीतामढ़ी , शिवहर , सुपौल , किशनगंज , दरभंगा , मुजफ्फरपुर , गोपालगंज , खगड़िया , पूर्वी व पश्चिमी चंपारण ।

Q 2. बिहार बाढ़ राहत के तहत सरकार के द्वारा कितना पैसा दिया जाएगा ?

बिहार बाढ़ राहत के तहत बिहार बाढ़ ग्रसित क्षेत्र के बाढ़ पीड़ित परिवारों को ₹6000 प्रति परिवार दिया जाएगा साथ ही अलग से जान-माल , मकान , कपड़े , बर्तन की हानि होने पर भी पैसा दिया जाएगा जो कुछ इस प्रकार से है ।

  • बिहार बाढ़ प्रभावित परिवारों को ₹6000 का लाभ ।
  •  कपड़ा का नुकसान होने पर 1800 रुपए
  •  ₹2000 बर्तन के लिए
  •  6800 रुपए प्रति हेक्टेयर फसल के लिए
  •  ₹30000 प्रति गाय , भैंस की छती होने पर
  •  ₹25000 प्रति घोड़ा की छती पर
  •  ₹3000 प्रति भेड़ ,बकरी ,सूअर की छती पर
  •  ₹95100 पक्का मकान , कच्चा मकान नुकसान पर
  •  ₹50 प्रति मुर्गी नुकसान पर अधिकतम ₹5000 देय होगा ।
  •  5200 रुपए पक्का मकान के आंशिक क्षतिग्रस्त होने पर
  •  3200 रुपए कच्चा मकान के आंशिक क्षतिग्रस्त होने पर 2100 रुपए जानवर के शेड नुकसान होने पर
  •  ₹4100 झोपड़ी का पूर्ण नुकसान होने पर

Q 3. बिहार बाढ़ राहत योजना के लिए आवेदन कैसे करें ?

फिलहाल आप को आवेदन करने की कोई आवश्यकता नहीं है अगर आप बाढ़ प्रभावित क्षेत्र से आते हैं तो आपका डेटाबेस सरकारी अधिकारियों के द्वारा तैयार किया जाएगा और सूची में आपका नाम शामिल किया जाएगा , आप बस यह ध्यान रखें अगर कोई अधिकारी आपके गांव में आता है और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का ब्यौरा लेता है और अगर कोई लिस्ट तैयार करता है तो आप अपनी जानकारी सही और बैंक अकाउंट नंबर भी सही दर्ज करें ।

Q 4. बिहार बाढ़ सहायता योजना के तहत पैसा कैसे मिलेगा?

बिहार बाढ़ राहत योजना के तहत राहत की राशि आपको सीधे बैंक अकाउंट में लिस्ट तैयार हो जाने के बाद मिलेगी । यह पैसा आपके खाते में डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर के माध्यम से जमा किया जाएगा

Q 5. बिहार बाढ़ सहायता का पैसा कब मिलेगा ?

बिहार बाढ़ सहायता योजना के तहत लोगों की जानकारी इकट्ठा की जा रही है और जिस जिस प्रखंड में लोगों की जानकारी इकट्ठा हो चुकी है वहां पैसा आना भी शुरू हो चुका है ,तो जैसे ही आप की जानकारी या लिस्ट भी तैयार हो जाती है आपके बैंक खाते में Bihar Badh Sahayata Yojana का पैसा आना शुरू हो जाएगा ।

नोट :- तो आज के इस आर्टिकल में आपने Bihar Badh Sahayata Yojana से संबंधित लगभग सारी जानकारी प्राप्त की , अगर आप कुछ पूछना या जानना चाहते हैं तो कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं ।

Updated: July 25, 2020 — 11:51 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *